Entertainment Express
Entertainment Film Review

WHY TO WATCH HEROPANTI??? BOLLYWOOD KO BACHANEY AAAGAYA FILM REVIEW

heropanti film

फिल्म बनाना एक सबसे कठिन (tough ) काम है। और सब को लगता है के फिल्म की रिव्यु लिखने के बाद वह उस सभी कलाकार, तकनीशियन और प्रोडूसर, डायरेक्टर , लेखकः, और सबसे बड़ी बात , जो फिऑन्सनर इसमे पैसे लगा रहा है उसका दूसरी बार फिल्मो में पैसे लगाने से डरना।
किसी भी फिल्म की बुराई या अछाईए करके हम किसी भी दर्शक को सिनेमा घरों में नहीं बुला सकतें , ये तोह एक नेटवर्क मार्केटिंग की तरह काम करता है , सोशल मीडिया एक विशेष योगदान करता है आज की जगत में। जिस तरह फिल्म थे कश्मीर फाइल्स ने किया है , एक ऐसा उदहारण है , जो यकीं करना भी मुश्किल है , कम बजट की यह फिल्म जिसने कोई भी प्रोमोशन नहीं किया और इतना पैसा कमाया और नाम जिसका क्या ही कहना।
तोह शुरू करते है फिल्म हीरोपंती का फिल्म रिव्यु से, फिल्म का ट्रेलर आप सभी देख चुके है , और आप कुछ लोगों ने फिल्म जरूर देखि होगी,
तो जिस किसी ने यह फिल्म नहीं देखि है तोह एक बार जरूर देखे और बताये के फिल्म कैसे बानी है। क्यों के क्रिटिक को कई बार लोग biased भी कहते है।
किसी को बोलने से या किसी के कहने से कुछ फरक नहीं पड़ता , अगर आपका प्रोडक्ट अच्छा है तोह मार्किट में जरूर बिखगा , सिगरट , तम्बाकू के प्रोडक्ट के उप्पेर इतने भयंकर चेतावनी लिखी रहती है फिर भी उसे कहते है लोग. शारुख, अजय देवगन , या अक्षय कुमार के कहने से कोई उत्तेजित नहीं होता खाने।
फिल्म heropanti , फिल्म बिलकुल भी एंटरटेनर नहीं है , ज़बरजस्ती जैकी चैन का एक्शन जो के बिलकुल मैच नहीं करता.
हीरोइन तारा सुतरिअ का ओवरएक्टिंग आपको पसंद आएगी , Nawazuddin siddiqui का काम ठीक ठाक है , उन्होने भी कोई कमी नहीं छोड़ी है ओवर एक्टिंग में.
फिल्म के गाने में मज़ा नहीं है , फिल्म का plot क्लाइमेक्स सब बोरिंग है। फिल्म को देखने से अच्छा है के आप छोटा भीम , या शिन चैन कार्टून नेटवर्क पर देखले.
फिर भी आपको तसली करनी है तोह फिल्म देखे और सिर्फ बच्चों के साथ ये
फिल्म देखें , शायद उनको पसंद आ जाएगी ये फिल्म।
KGF. the कश्मीर फाइल्स , ररर जैसे फिल्म देखने क बाद में तोह बिलकुल भी नहीं देखने बोलूंगा इस फिल्म को। पता नहीं बहुत मन किया के नेगेटिव रिव्यु न दु किसी फिल्म को , पर देना पड़ता है
अगर आपके पैसे सिनेमा घर में महंगी टिकट खरीदने क बाद आप बीच में से अंदर बहार करें सिनेमा घर के , तोह आपको गुस्सा आएगा , क्यों की रेक्लिनेर कुर्सी में मुझे नींद नहीं आती , वह भी डॉल्बी साउंड आवाज़ के साथ आप सो नहीं पाएंगे।
आप फिल्म देखें और अपने रिस्क पर वार्ना वेट करें टीवी या OTT प्लेटफार्म पर फिल्म के आने का.
मुझे जरूर बताए के आप किस फिल्म का रिव्यु पड़ना चाहते है. में आपको और भी फिल्म का रिव्यु दूंगा आने वाले समय में।
कृपा कभी कभी आपको अपने दिलकी भी सुन्नी चाइये , किसी के कहने से या बोलने पर मत जाइये। हम आशा करेंगे क बॉलीवुड गेट वेल सून हो जाये।

Related posts

Sanjay Dutt was upset about the fight scene with Ranbir Kapoor, BTS video surfaced

The Gray Man एक सर दर्द फिल्म क्यों है, धनुष ने क्यों की यह फिल्म जानिए

entertainmentexpress

कार्तिक आर्यन को उपहार के रूप में भारत का पहला मैकलारेन जीटी मिला।

Leave a Comment